छत्तीसगढ़

नेता हो या व्यापारी या आमजनता सबको इंतजार हैं चुनावी रिजल्ट का, बीते दिनों हुए विधानसभा चुनाव पूरे प्रदेश में वोटिंग 62 प्रतिशत के आसपास ही रही, इस बार चुनावी त्यौहार भारी पड़ा दीपावली त्यौहार पर व्यापारी रहे मायूस ग्राहकी में पड़ा असर?

वरिष्ठ पत्रकार गोविन्द शर्मा की कलम से

Ghoomata Darpan

नेता हो या व्यापारी या आमजनता सबको इंतजार हैं चुनावी रिजल्ट का, बीते दिनों हुए विधानसभा चुनाव पूरे प्रदेश में वोटिंग 62 प्रतिशत के आसपास ही रही, इस बार चुनावी त्यौहार भारी पड़ा दीपावली त्यौहार पर व्यापारी रहे मायूस ग्राहकी में पड़ा असर?

रायपुर/बिलासपुर:- छत्तीसगढ़ में 2023 का विधानसभा चुनाव दो चरणों में विगत दिनों सम्पन्न हुआ जिसमे निराशा इस बात की रही जिला निर्वाचन ने पूरी ताकत के साथ प्रचार प्रसार लगा दिया की मतदान शत प्रतिशत हो और हुआ उसका उल्टा,क्या ग्रामीण क्या शहरी क्षेत्र सब जगह मतदान का प्रतिशत उस प्रकार का नही दिखा जिस प्रकार की निर्वचन आयोग को संभावना थी ।

आखिर इस विधानसभा में बढ़ चढ़ कर छत्तीसगढ़ की जनता ने हिस्सा क्यों नही लिया राजनीतिक विश्लेषकों का कहना होता है कि जनता जब इस प्रकार का करती हैं तो समझो जिसकी सरकार थी उससे वो खुश उसे वो बदलना नही चाहते लेकिन मेरा सोचना जरा उल्टा है हर विधानसभा का परिदृश्य अलग होता है कई बार जिसकी सरकार है उसने जनता की पसंद का उम्मीदवार ही नही उतारा तो उसको तो जनता वोट नही देगी वो उसके सामने खड़े प्रत्याशी वो चाहे दूसरी पार्टी का हो या कोई निर्दलीय उसे वो चुनती है इस बार का विधानसभा चुनाव छत्तीसगढ़ में फीका रहा शत प्रतिशत मतदान न हो लेकिन मतदान सम्मान जनक तो होना ही चाहिए था और जनता को बढ़ चढ़ का हिस्सा लेना चाहिए था क्योंकि आपके द्वारा चुना गया प्रत्याशी आपके क्षेत्र में विकास करेगा उसे चुनना सभी का कर्तव्य भी हैं लेकिन इसबार ऐसा नही दिखाई दिया ।

*भाजपा और कांग्रेस का दावा दोनो पार्टी 70 प्लास सीट आने का दावा कर रही:-*

भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टी के नेता ये दावा कर रहे है की उनकी पार्टी की 70 सीट से ऊपर आ रही हैं उनका कौन सा गणित है ये वो ही जाने लेकिन हमारे सूत्र या सर्वे जो हमने स्वयं आम जनता एवम ग्रामीणों में ग्रामीणों से बात करके या अपने सूत्रों के आधार पर जानने का प्रयास किया कि कांग्रेस पार्टी की पिछली बार से सीट कम हो रही है और भाजपा की सीट बढ़ रही है लेकिन कांग्रेस सरकार बनाने तक सीट हासिल करने में कामयाब होगी और सरकार कांग्रेस की बन सकती है?

खैर चुनावी माहौल पिछले दो माह से पूरे छत्तीसगढ़ में चल रहा था नेता,व्यापारी,आमजनता के बीच सिर्फ एक विषय पर चर्चा हो रही थी की उनके क्षेत्र में कौन जीत रहा है और सरकार किस पार्टी की बन रही है इस बार तो चुनावी त्यौहार के चलते दीपावली त्यौहार भी फीका फीका सा नजर आ रहा था काफी कम मतदान के साथ छत्तीसगढ का चुनाव सम्पन्न हुआ और अब सिर्फ इंतजार हैं तो आने वाली 3 तारीख का जिसमे वोटो की गिनती मत गढ़ना होनी है और शाम होते तक साफ हो जाएगा की प्रदेश में किस पार्टी की सरकार बनने जा रही है।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button