छत्तीसगढ़साहित्य

कर दुश्मन का सिर कलम जब जब तिरंगा लहराएगा जन-गण मंगलदायक गीत हर घर हिंदुस्तानी गाएगा”

Ghoomata Darpan

कर दुश्मन का सिर कलम जब जब तिरंगा लहराएगा जन-गण मंगलदायक गीत हर घर हिंदुस्तानी गाएगा"

 

“कर दुश्मन का सिर कलम
जब जब तिरंगा लहराएगा
जन-गण मंगलदायक गीत
हर घर हिंदुस्तानी गाएगा”
सुशासन दिवस पर नगर पंचायत झगराखंड द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन में अपनी प्रस्तुति देते हुए क्षेत्र की सुपरिचित साहित्यकार अनामिका चक्रवर्ती ने स्व.अटल बिहारी वाजपेयी की कविता पढ़ने के बाद अपनी कविता पढ़ी
इसी कड़ी में नगर के फोटोग्राफर, साहित्यकार मृत्युन्जय सोनी ने कहा कि “जहां भी शासन, प्रशासन, राजनीति में साहित्य की संवेदनशीलता होगी वहां स्वमेव सुशासन और स्वच्छ राजनीति ही होगी” इसके लिए नगर पंचायत झगराखंड के सीएमओ संजय दुबे  को हार्दिक धन्यवाद देते हुए स्व.अटल जी की कविता “काल के कपाल पर लिखता हूं, मिटाता हूं/गीत नया गाता हूं,गीत नया गाता हूं” की प्रस्तुति के बाद अपनी कविता सुनाई “कोसेंगे आप खुद को/सारी रात कि पहली बार ही/क्यों नहीं उठाया हाथ”
इसी कड़ी में नगर की युवा कवयित्री कु. इशिता सिंह ने अपनी कविता सुनाई “भारत की भूमि पर जन्मे कई, महापुरुष और क्रांतिकारी/उनमें ही एक नाम है जिनका अटल बिहारी” काव्य संध्या पर अगले कवि उज्जवल सिंह ने कहा “राष्ट्र के हित में और राजनीति में/नि: स्वार्थ भाव से जो कदम बढ़ाए वो अटल”
इसी तारतम्य में नगर के सुरीले कवि,शिक्षक नारायण प्रसाद तिवारी ने अपनी कविता में कहा “वाणी का ऐसा वरदान दो शारदे, वाणी में गीत का भाव ऐसा जगा दो मेरे/शब्द हो जाएं उनके कफ़न के लिए,जिनकी जानें गईं हैं वतन के लिए ” इसी तारतम्य में कार्यक्रम का संचालन कर रही वीरांगना श्रीवास्तव ने अपनी कविता”बेटी जब जन्म लेती है,तब पावन हो जाता आंगन/घुटनों के बल चलती बेटी,मंद मंद मुस्काता आंगन ” इसी तारतम्य में सुषमा श्रीवास्तव, रिचा श्रीवास्तव, रामानुज तिवारी, शान्वी श्रीवास्तव ने अपनी प्रस्तुति दी और अंत में व्यंग्यकार जगदीश पाठक ने अपने गुदगुदाते व्यंग्य सुनाए
कार्यक्रम के अंत में मुख्य नगर पंचायत अधिकारी संजय दुबे ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि शासन को सतत मानवीय संवेदना के लिए साहित्य, संस्कृति, सांस्कृतिक कार्यक्रम से जुड़े रहना चाहिए

कर दुश्मन का सिर कलम जब जब तिरंगा लहराएगा जन-गण मंगलदायक गीत हर घर हिंदुस्तानी गाएगा"
इसी कार्यक्रम में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता छात्र-छात्राओं को पारितोषिक वितरण किया गया
कार्यक्रम का संचालन संचालन के लिए सुप्रसिद्ध साहित्यकार वीरांगना श्रीवास्तव ने किया
इस अवसर पर व्यंग्यकार, कार्टूनिस्ट जगदीश पाठक, रामानुज तिवारी, नारायण प्रसाद तिवारी, फोटोग्राफर, साहित्यकार मृत्युन्जय सोनी, युवा कवि उज्जवल सिंह, सशक्त साहित्यकार अनामिका चक्रवर्ती, वीरांगना श्रीवास्तव, सुषमा श्रीवास्तव, कनुप्रिया अग्रवाल,रिचा श्रीवास्तव, कुमारी इशिता सिंह,शान्वी श्रीवास्तव, उमेश जायसवाल, मुख्य नगर पंचायत अधिकारी संजय दुबे, विकास मिश्र,आकाश कुमार, अतुल साहू, प्रशांत शर्मा, तुलसी सोनी सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button