छत्तीसगढ़

बिरजू ,धनिया ,कजरी , किसनू सबकी याद सुहानी रखना कहां-कहां मुस्कान बिखेरी। उत्तर याद जुबानी रखना।

Ghoomata Darpan

क्या सरोज पांडे दिल्ली  में कमान सम्हाल सकती है?
बिरजू ,धनिया ,कजरी , किसनू सबकी याद सुहानी रखना कहां-कहां मुस्कान बिखेरी। उत्तर याद जुबानी रखना।

राजनीति के  गलियारों में अब इस बात की चर्चा शुरू  हो गई है कि केंद्र में केबिनेट मंत्री जरूर बनेगी सरोज पांडे ।  राजनीति के अनुभवी  पंडित कह रहे हैं कि इस बार छत्तीसगढ़ से  केंद्रीय मंत्री बनने का योग कोरबा से सरोज पांडे का  ही है। सियासत में सभी महिला प्रत्याशियों से सरोज पांडे परफेक्ट है। जीतने पर सरोज पांडे का केंद्र में जाने का पूरा चांस है। सरोज  पांडे सांसद रह चुकी हैं  ,विधायक और मेयर भी रह चुकी हैं। महाराष्ट्र की पार्टी प्रभारी समेत राष्ट्रीय स्तर पर भी की दायित्व सम्हाल चुंकी है उनका अनुभव और पिछला अहोदा उनको दिल्ली तक  सम्मान से ले जाने के लिए पर्याप्त है। आगे आगे देखिए  क्या  पता उनका अगला स्टेशन दिल्ली ही हो।

धन्यवाद  मा.मंत्री  श्याम बिहारी जी 

बिरजू ,धनिया ,कजरी , किसनू सबकी याद सुहानी रखना कहां-कहां मुस्कान बिखेरी। उत्तर याद जुबानी रखना।

 छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री मनेद्रगढ़ विधायक  श्याम बिहारी जायसवाल के कार्यों से जनता  संतुष्ट हैं। अपने विभाग का दायित्व बखूबी निभाते हुए मनेद्रगढ़, चिरमिरी के साथ  जनकपुर के विकास को नहीं भूलते हैं। मंत्री जी की पहल से स्वास्थ्य विभाग ने मनेंद्रगढ़ चिरमिरी और जनकपुर में ब्लड बैंक खोलने का लायसेंस जारी कर दिया है। मरीजों को अब खून के लिए बैकुंठपुर नहीं जाना  पड़ेगा। मनेन्द्रगढ में  ब्लड बैंक के लिए पहले भी आवाज उठती रही है जिसका नेतृत्व  भाजपा के युवा नेता अंकुर जैन  एवं नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष धर्मेंद्र पटवा आशीष मजूमदार आदि ने  किया था। मनेद्रगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को अब विधिवत फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन रायपुर कार्यालय से संबंधित अधिकारी का पत्र मिल गया। मनेद्रगढ़ चिरमिरी और जनकपुर स्वास्थ्य केंद्र को फिलहाल 2026 तक के लिए लाइसेंस जारी कर दिया गया। आपातकालीन स्थिति में जिले के लोगों का इसका लाभ मिलेगा। जिले की 2 लाख से अधिक आबादी की ओर से मंत्री जी का धन्यवाद।
मनेन्द्रगढ में 50 सीटों का कालेज 
 रायपुर से पुख्ता  खबर यह मिली है कि   मनेंद्रगढ़ में 2025-26 में  50 सीटों का मेडिकल कालेज शुरू हो जायेगा। इससे एमबीबीएस की स्टडी करने वाले भविष्य के युवा  डॉक्टर को लाभ होगा। एक मेडिकल कॉलेज की संपूर्ण अधोसंरचना में तीन सौ करोड़ खर्च होते हैं। मनेन्द्रगढ़ के लिए यह राशि स्वीकृत भी कर दी गई है लोकसभा चुनाव के बाद मनेद्रगढ़ में पुनः हाई पावर कमेटी का सर्वे होगा। जमीन का फायनल  नक्शा पास किया जायेगा। टेंडर की कार्रवाई जुलाई – अगस्त 24 तक शुरू कर दी जायेगी। मनेन्द्रगढ़ के 50 सीटर मेडिकल कॉलेज का पूरा नियंत्रण चिकित्सा शिक्षा विभाग करेगा। अभी छत्तीसगढ़ में 10 शासकीय मेडिकल कॉलेज तीन प्रायवेट  मेडिकल कॉलेज  हैं। निश्चित रूप से इस सुविधा के लिए भी मनेन्द्रगढ़ के  सक्रिय   विधायक और छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य मंत्री  श्याम बिहारी जायसवाल का विशेष योगदान हैं। मेडिकल की स्टडी  के लिए, भावी डॉक्टर तैयार करने के लिए मनेद्रगढ़ की यह सुविधा विशेष उल्लेखनीय है। उम्मीद है  मेडिकल कॉलेज की सारी औपचारिकताओं को मंत्री जी के निर्देशन में समय पर पूरा कर लिया जाएगा और आने वाले दो वर्षों में 50 सीटर मेडिकल कॉलेज  मनेन्द्रगढ में संचालित होने लगेगा।  यहां यह बात भी उल्लेखनीय है कि मनेंद्रगढ़ में 2 वर्षों से महिला रोग विशेषज्ञ का पद खाली है । मनेद्रगढ़ हॉस्पिटल में इन तमाम सुविधाओं के साथ स्त्री रोग विशेषज्ञ की भी पदस्थापना के लिए शीघ्र प्रयास होना चाहिए।
चुनाव में जीत किसकी? कौन बनेगा सांसद ?
वर्तमान राजनीतिक फिज़ा को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी के कैंडिडेट भारी बाजी मारी ले जायेंगे। पर राजनीतिक भविष्यवाणी करना बहुत जोखिम का काम है राजनीति में जिस प्रत्याशी की जीत के संभावना रहती है  कई बार उसे हार का सामना करना पड़ता है। राजनीतिक विश्लेषक भी जनता के मतों से ही जीत और हार की संभावनाओं को बताते है। कोरबा लोकसभा क्षेत्र में आने वाला मनेन्द्रगढ़ में  लोकसभा के दोनों प्रत्याशियों का दौरा हो चुका है। मोदी लहर में भाजपा की सरोज पांडे को इसका लाभ मिल सकता है। ज्योत्सना महंत के पति  चरण दास महंत के बिगड़ते बोल के कारण कांग्रेस से लोकसभा प्रत्याशी श्रीमती महंत को कठिन संघर्ष करना पड़ सकता है। कोरबा लोकसभा में भरतपुर-सोनहत- मनेद्रगढ़, बैकुंठपुर ,रामपुर ,कोरबा, कटघोरा पाली -तानाखार मरवाही शामिल है। परिणाम आने के पहले कयास लगाना, राजनीति से जुड़ी भावनाएं ही तो है।
 नेताओं के बिगड़े बोल
बिरजू ,धनिया ,कजरी , किसनू सबकी याद सुहानी रखना कहां-कहां मुस्कान बिखेरी। उत्तर याद जुबानी रखना।
पहले नेताप्रतिपक्ष चरण दास महंत ने पहले  कहावत में मोदी जी का सर फोड़ने के बाद कहीं अब प्रधानमंत्री मोदी को “डिफाल्टर” कह दिया। बस्तर से लोक सभा के प्रत्याशी कवासी लखमा ने भी  हलबी भाषा में कहा- “कवासी लखमा जीतोड़  ,नरेंद्र मोदी ढोलतोर-“यानी कवासी लखमा जीतेगा और नरेंद्र मोदी मरेगा। इसी प्रकार कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया ने भी हिमाचल प्रदेश मंडी से भाजपा की प्रत्याशी कंगना रनौत पर  “मंडी” शब्द को लेकर अशोभनीय टिप्पणी  की थी। यह चुनावी प्रक्रिया तो महीने दो महीने में गुजर जाएगी लेकिन जो जुबान से निकली दुर्भावना से युक्त बात है वह सदा सदा के लिए दो दिलों में गांठ जरुर पैदा कर देती है।
चुनावों में दिग्गज 
रायपुर लोक सभा सीट से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी विकास उपाध्याय के भीतर की कोई छुपी हुई आशंका या छटपटाहट है जो चुनाव प्रचार के लिए तरह तरह हथकंड़े अपनाने के लिए उनको विवश  कर रहा है। कुछ दिन
पहले उपाध्याय जी बैलगाड़ी पर चुनाव प्रचार करते दिखे। कभी कोई पुरानी मांग को लेकर जनहित में रात रात भर धरना देते हुए दिख रहे हैं। उनका मुकाबला राजनीति के भाजपा के वरिष्ठ  नेता और अनुभवी राजनीतिक कुशल रणनीतिकार  बृज मोहन अग्रवाल से है। उपाध्याय जी का फिर भी हौसला बुलंद है। यह सही भी है बिना संघर्ष के हार मानना भी नहीं चाहिए। इसी प्रकार राजनांदगांव लोकसभा सीट से पूर्ववर्ती सरकार क सीएम  भूपेश बघेल   अपने चुनाव प्रचार में खूब पसीना बहा रहे हैं।है दुर्ग लोकसभा में संपर्क और प्रचार में कांग्रेस के राजेंद्र साहू और बीजेपी से विजय बघेल के बीच रोमांचक मुकाबला है। लोकसभा चुनाव की केटली में दाल अब उबल रही है।यह वक्त बतलायेगा कि अब  राजनीति की केटली में किसके हिस्से की दाल गल रही है। बस्तर से कवासी लखमा के बोल उनका समीकरण बिगाड़ सकते हैं।  कोरबा से ज्योत्सना महंत को, चरण दास महंत के लाठी से मोदी का सर फोड़ने और मोदी को छत्तीसगढ़ की जनता-“डिफाल्टर” समझती है जैसे विवादित बोल  भयंकर नुकसान पहुंचा सकते है। राजनांदगांव में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,कड़ा संघर्ष कर रहे हैं। जांजगीर से शिव डहरिया थके थके से लग रहे हैं। महासमुंद में पूर्व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, साहू वोट को अपने जीत का आधारं मान रहे हैं। रायपुर से दिग्गज नेता बृजमोहन अग्रवाल की जीत सुनिश्चित है। दुर्ग से  विजय बघेल अपने प्रतिद्वंद्वी को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। बिलासपुर में भाजपा के तोखन साहू,  साहू वोटरों को साध रहे हैं। रायगढ़ में  भाजपा   और कांग्रेस के  दोनों सांसद प्रत्याशी में जीत हार का अंतर काफी कम रहने की संभावना है। सरगुजा से चिंतामणि महाराज को विपक्षी उनके पुराने आरोपों से घेर रहें हैं।  भाजपा यह दावा कर रही है कि समस्त 11 लोकसभा सीटों पर हम विजय प्राप्त करेंगे वहीं कांग्रेस केवल दो तीन सीटों पर ताल ठोंक रही है। अभी थोड़ा वक्त है स्थिति धीरे-धीरे और साफ हो जाएगी।
पूछते हैं सब सवाल
  • कोतवाली थाना मनेंद्रगढ़ के टी आई  की किस दरिया दिली और परमार्थ के काम की प्रशंसा हो रही है?
  • आने वाले समय  में और लोक सभा चुनाव के परिणाम के बाद मनेन्द्रगढ़ के किस विवादित नेता को मंत्री जी की खरी_खरी सुननी पड़ सकती है?

Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button