छत्तीसगढ़

हसदेव एरिया के झगड़ाखाण्ड उपक्षेत्र के सैकड़ों श्रमिकों ने हिन्द मजदूर सभा के आह्वान पर बिजली की कटौती बंद करने और पीने के पानी की रोज़ आपूर्ति की मांग को लेकर मशाल जुलूस निकाल अपने विरोध का प्रदर्शन किया

Ghoomata Darpan

हसदेव एरिया के झगड़ाखाण्ड उपक्षेत्र के सैकड़ों श्रमिकों ने हिन्द मजदूर सभा के आह्वान पर बिजली की कटौती बंद करने और पीने के पानी की रोज़ आपूर्ति की मांग को लेकर मशाल जुलूस निकाल अपने विरोध का प्रदर्शन किया

हसदेव एरिया के झगड़ाखाण्ड उपक्षेत्र के सैकड़ों श्रमिकों ने हिन्द मजदूर सभा के आह्वान पर बिजली की कटौती बंद करने और पीने के पानी की रोज़ आपूर्ति की मांग को लेकर मशाल जुलूस निकाल अपने विरोध का प्रदर्शन किया

मनेन्द्रगढ़।एमसीबी।  एसईसीएल हसदेव एरिया के झगड़ाखाण्ड उपक्षेत्र के सैकड़ों श्रमिकों ने हिन्द मजदूर सभा के आह्वान पर बिजली की कटौती बंद करने और पीने के पानी की रोज़ आपूर्ति की मांग को लेकर मशाल जुलूस निकाल अपने विरोध का प्रदर्शन किया। बडी तादाद मे महिला श्रमिकों की भागीदारी इस प्रदर्शन मे रही । एकता नगर स्टेडियम से प्रारंभ कर कलेक्टर और एसपी के आवास के सामने से होते हुये मशाल जुलूस मुख्य मार्ग से बी सीम स्थित उपक्षेत्रीय कार्यालय मे ज्ञापन दे कर समाप्त हुआ। हिन्द मजदूर सभा के क्षेत्रिय अध्यक्ष श्री सुनील पाण्डेय ने कहा कि कालोनियों मे कुल कटौती 8 से 10 घंटों तक हो रही है। 72 घंटों मे पीने का पानी मिल रहा है। लगातार एच एम एस विरोध कर रही है लेकिन प्रबंधन और प्रशासन के कानों पर जूं नही रेंग रही है । ऐसे मे मशाल जुलूस के द्वारा अपनी पीड़ा हम ब्यक्त कर रहे हैं। आंदोलन का यह पहला पड़ाव है।
हिन्द मजदूर सभा की ओर से अख़्तर जावेद उस्मानी ने बताया कि वेस्ट झगड़ाखाण्ड और हल्दी बाड़ी कालरी का सम्मिलित घाटा ₹ 9000/ प्रति टन उत्पादन के स्तर पर पहुंच रहा है। इसमे बिजली का बिल लगभग ₹ 900/- प्रति टन है। पिछले माह बिजली का बिल ₹ 12 करोड़ का आया है। कालरी क्षेत्र के बच्चे पढ़ नहीं पा रहे हैं। खदान बंद होने की हालत मे है। मुख़यालय खदानों को बंद करने के फ़िराक़ मे है। घाटे के नाम पर मजदूरों का संडे डियूटी बंद कर दिया गया है। ओव्हर टाईम भी नही मिल रहा है। लेकिन किसी को चिंता नहीं है । लेकिन हम खदानों को बंद होने नहीं दे सकते,
अब तो जनवरी 2024 मे महाप्रबंधक कार्यालय और फिर कलेक्टर एमसीबी के कार्यालय के समक्ष आंदोलन प्रदर्शन और अनशन किया जायेगा। जिसकी नोटिस जनवरी मे दी जायेगी। लक्ष्य हासिल होने तक आंदोलन जारी रहेगा।
आंदोलन को सफल बनाने मे श्री तन्मय पालित, सुरेश पटेल, चन्द्र भान पाल, सुजीत गांगुली, रामभजन यादव, राजकुमार साहू, चंदन सरकार, समनजीत सरकार, सुनील सिंह, होलीराम, पूरन प्रदीप पन्ना लाल रवि जायसवाल, बर्क़ल्लाह, सुनील गुप्ता, अमजद शिव प्रसाद सहित महिला श्रमिकों चन्द्रा कुमारी, फूलवती सिंह, सोनाली मसीह, सरोज, राजकुमारी, सावित्री, संजू आदि की प्रमुख भागीदारी रही।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button