छत्तीसगढ़

वनरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया का कवरेज करने गए पत्रकार के साथ हुई अभद्रता

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ ने इस मामले की निंदा की और मुख्यमंत्री से कार्यवाही करने को कहा। *आखिर अधिकारी पत्रकारों के कवरेज पर नकारात्मक ही क्यों लेते हैं?*

Ghoomata Darpan

वनरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया का कवरेज करने गए पत्रकार के साथ हुई अभद्रता

बिलासपुर:- पत्रकार समाज का आइना होता है जो सच्चाई दिखाने का प्रयास हमेशा करता रहता है लेकिन आज कल अधिकारी,नेता,उन्हे टारगेट करने लगे है जब भी कोई पत्रकार किसी खबर को लेकर कवरेज करता है उसे ये लोग नकारात्मक ही लेते है,पत्रकार वही प्रकाशित करेगा जो सच होगा उसको लेकर अधिकारियों को भय सताने लगता है कि क्या लिखेगा निगेटिव ही छापेगा जिसके चलते ये अधिकारी पत्रकारों को ही टारगेट में ले लेते है और उन्हें अपनी एप्रोच का फायदा उठाते हुए शासकीय कार्य में बाधा की धमकी देते है कई तो एफ आई आर करा भी देते जबकि पत्रकार सच्चाई जानने जाता है और उसे समाज के समाने लाने का प्रयास करता है ऐसा ही एक मामला सामने आया

 

*पत्रकार का मोबाइल छीन कर किया अभद्रता:-*

छत्तीसगढ़ प्रदेश के वन विभाग में वनरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। इसी के तहत् बिलासपुर वनमंडल को बहतराई स्टेडियम बिलासपुर में अभयर्थियों का शारीरिक परिक्षण की जिम्मेदारी दिया गया है,जानकारी के अनुसार इसके लिए शासन से व्यय करने के लिए वनमंडल के पास बजट नही आया है तो फिर सवाल उठता है कि खर्च वहन कौन कर रहा है? इसकी सूचना मिलने पर पत्रकार गोलू कश्यप स्टेडियम खबर संकलन के लिए जाता है तो बिलासपुर वनमंडल में पदस्थ पल्लव नायक वनक्षेत्रपाल परिक्षेत्र अधिकारी बिलासपुर द्वारा खबर संकलन के लिए गये पत्रकार को अभद्र व्यवहार करते हुए उसका मोबाइल छीन लेते है और परिसर से बाहर निकल जाने की हिदायत तक दे देते है,आखिर खबर संकलन करने गया पत्रकार था कोई आतंकवादी,या नक्सली या गुंडा नही था सोचनीय ये बात हैं कवरेज करने गए पत्रकार से क्यों डर रहे थे अधिकारी।

सवाल जब खड़ा होता है तब शासन के पैसों का दुरुपयोग कैसे होता है :-

वनरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया का कवरेज करने गए पत्रकार के साथ हुई अभद्रता

आपको बता दें कि अधिकारी षड्यंत्र पूर्वक मिलीभगत कर 1500 प्रतिदिन किराया के हिसाब से कूलर की व्यवस्था किये है जबकि उस कूलर की कीमत बाजार में लगभग 30000 हजार रूपये है। भोजन किस गुणवत्ता का आ रहा है और बिल में क्या खेल हो रहा है इसके साथ बहुत से कार्य जिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं इन्ही सब भ्रष्टाचार के बाहर आ जाने के डर से रेंजर ने पत्रकार को परिसर से बाहर निकल जाने को कह डाला और उसका मोबाइल छीन लिया जब शहर के पत्रकारों को पता चला तो उसका मोबाइल रेंजर से वापस दिलाया गया।

*अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति :-गोविन्द शर्मा *

वनरक्षकों की भर्ती प्रक्रिया का कवरेज करने गए पत्रकार के साथ हुई अभद्रता

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने पत्रकार का मोबाइल छीन लेना उसके साथ कवरेज करने के समय अभद्रता करना को लेकर निंदा की है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिस प्रकार पत्रकारों को कानून दे रहे है वही उनके अधिकारी पत्रकारों के साथ इस प्रकार का कार्य कर रहे, इस प्रकार के अधिकारी सरकार की छवि बिगड़ने का काम कर रहे है, इसी वर्ष चुनाव भी होना है लेकिन अधिकारी सरकार की छवि बिगड़ने का काम कर रहे है।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button