छत्तीसगढ़

इस विद्यालय के कई कलाकार अपनी संगीत साधना के बल पर अंचल में उभरकर सामने आए हैं – डॉ. के पी पटेल

इस संस्था को शासन से अनुदान मिलने की प्रबल संभावनाएं हैं. इसके लिए संस्था को प्रयास करना चाहिए -रमेश सिंह

Ghoomata Darpan

मनेन्द्रगढ़। एमसीबी। संबोधन संगीत विद्यालय दिल्ली वर्ल्ड पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित संगीत समारोह देर रात  अपनी ऊंचाइयों पर समाप्त हुआ गायक कलाकार बी रविंद्र  कुमार ने अपने अलाप के साथ “घुंघरू तरह बजता ही रहा हूं मैं”  जैसे गीतों से पूरे कार्यक्रम को ऊंचाइयों तक पहुंचा दिया.सहयोगी कलाकार कु. करुणा गुप्ता ने नारी स्वर से कार्यक्रम को खूबसूरती प्रदान की.   तालियों से सराबोर जनमानस उनके एक-एक गीत पर तालियां बजाता रहा. गायक कलाकार सरदार हरमहेंद्र सिंह ने अपने गजल  “अपने आंखों की गहराई में उतर जाने दे”  और रमेश गुप्ता ने  “है  जिंदगी कितनी खूबसूरत”  जैसे गजलों  की प्रस्तुति के साथ श्रोताओं को मंत्र मुग्ध  कर दिया.  तबले पर संगत दे रहे कलाकार प्रदीप एवं आर्गन पर संगत करने वाले नीतीश पोद्दार सहित अन्य कलाकारों ने भी मंच की संगत ने  समा बांध दिया.
कार्यक्रम संचालक वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने सबसे पहले अतिथियों को मंच पर आमंत्रित किया.  संस्था के उपाध्यक्ष  हारून मेमन एवं सदस्य गौरव अग्रवाल और कल्याण केसरी से कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर के पी पटेल कार्यक्रम अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता  रमेश सिंह विशिष्ट अतिथि  योगेश कुमार सोलंकी प्राचार्य केंद्रीय विद्यालय झगड़ाखांड, वेंकटेश सिंह  निदेशक, डीपीएस स्कूल एवं प्राचार्य श्री तिवारी को रोली चंदन एवं बैज लगाकर स्वागत के लिए आमंत्रित किया.
मुख्य अतिथि डॉ. के पी पटेल ने  कहा कि संबोधन साहित्य एवं कला विकास संस्थान मनेंद्रगढ़ एक लंबे समय से संगीत साधकों को अपने विद्यालय के माध्यम से साधना करने के लिए प्रेरित करती रही है इस विद्यालय के कई कलाकार अपनी संगीत साधना के बल पर अंचल में उभरकर सामने आए हैं उनमें से प्रदीप्तो लाहिरी जैसे कुछ कलाकार राष्ट्रीय स्तर पर भी इस विद्यालय का और इस अंचल का नाम रोशन कर रहे हैं.
कार्यक्रम अध्यक्ष  रमेश सिंह ने कहा के संबोधन द्वारा आयोजित इस सुंदर संगीत समारोह के आयोजन के लिए मैं उन्हें बधाई देता हूं. संस्था की गतिविधियों से प्रसन्न होकर उन्होंने कहा कि इस विद्यालय का सहयोग जब कभी भी संबोधन को आवश्यकता हो हम उन्हें सभागार एवं अन्य सुविधा का सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है उन्होंने 45 वर्षों की इस संस्था को सुझाव देते हुए कहा कि अपने सांस्कृतिक और साहित्यिक आयोजनों के लिए इस संस्था को शासन से अनुदान मिलने की प्रबल संभावनाएं हैं. इसके लिए संस्था को प्रयास करना चाहिए . एमसीबी जिले के कलेक्टर एवं यहां के जनप्रतिनिधियों से इस संस्था को पूर्ण सहयोग मिलेगा , संस्था अध्यक्ष  अनिल जैन ने संगीत साधकों को अपने विद्यालय के माध्यम से आगे बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई उन्होंने कहा कि यह विद्यालय 29 वर्ष पूर्व मनेन्द्रगढ़ के संगीत साधकों को बिलासपुर रायपुर जाकर परीक्षा में होने वाली परेशानियों को देखकर प्रयाग संगीत समिति इलाहाबाद  के सहयोग से संबोधन संगीत विद्यालय1993 मे  स्थापित किया गया था.  आज अपने ही कलाकारों को बढ़ते हुए देखकर हमें खुशी होती है उन्होंने संस्था के प्रति कार्यक्रम अध्यक्ष माननीय रमेश सिंह के सुझाव एवं आशीर्वचन को क्रियान्वित करने हेतु विश्वास दिलाया. दिल्ली वर्ल्ड पब्लिक स्कूल के सभागार में आयोजित यह कार्यक्रम पत्रकारों, संगीत साधको, संबोधन सदस्यों एवं संगीत प्रेमी नागरिको की  उपस्थिति मे   सूरों एवं संगीत की यह शाम देर रात तक श्रोताओं की तालियां बटोरती रही. पकार्यक्रम का समापन गौरव अग्रवाल ने  समस्त अतिथियों एवं सहयोगियों के आभार प्रदर्शन के साथ समापन हुआ ।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button