छत्तीसगढ़

सिखों के पांचवें गुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया गया

Ghoomata Darpan

मनेन्द्रगढ़ सिखों के पांचवें गुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया गया। कई जगह शरबत वितरण किया गया। शहीदी पर्व के मौके पर गुरुद्वारा में श्री गुरू ग्रंथ साहब का विशेष दीवान सजाया गया। लोगों ने गुरुद्वारा में पहुंचकर अरदास की। जिसके बाद दोपहर को छबील लगाकर राहगीरों को ठण्डा शर्बत पिलाया गया। इस बार शहर के चार अलग अलग स्थानों पर लोगों को शरबत पिलाया गया।

बताया गया कि गुरू अर्जन देव पांचवें सिख गुरू थे। जिनका शहीदी दिवस हर साल जेठ सुदी चतुर्थी को मनाया जाता है। वे सिखों के पहले शहीद थे। जिन्हें शहीदों का सरताज भी कहा जाता है। उनकी शहादत सिखों के लिए बहुत धार्मिक महत्व रखती है। उनके नाना अमरदास थे जो तीसरे सिख गुरू थे। बाबा ईश्रर सिंह ने गुरू अर्जन देव से शिक्षा लेकर हर प्राणी मात्र के भले की सोच रखने की सीख दी थी ।इस अवसर पर समाजसेवी संस्था वी क्लब की कमलेश अरोरा, श्वेता पोद्दार, देवेंदर कौर, प्रीति, लीना अरोरा, ज्योति अग्रवाल, सविता अग्रवाल समेत अन्य सदयस्यों ने शरबत वितरण में सहयोग किया. कमलेश अरोरा परिवार की ओर से श्री सुखमनी साहेब जी का पाठ करवाया गया. पाठ के उपरांत बाजार में शरबत वितरण किया गया.


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक प्रधान संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button