साहित्यक्राइम

मर्डर एट द क्लब… मर्डर मिस्ट्री

Ghoomata Darpan

मर्डर मिस्ट्री कहानियों की शैली में मर्डर एट द क्लब अपने रोमांचक कथानक, यथार्थवादी पात्रों और 1990 के दशक की अद्भुत सेटिंग्स के साथ खड़ा है। एक सिटी क्लब उस समय व्यथित हो जाता है जब रीता, एक व्यवसायी की सुंदर पत्नी अपने प्रेमी के साथ एक रात बिताने के बाद अतिथि कमरों में से एक में मृत पाई जाती है। मामला तब गंभीर हो जाता है जब पति राकेश और प्रेमी मनेंद्र गायब हो जाते हैं और बुद्धिमान इंस्पेक्टर वीरेंद्र और उनकी टीम को उन्हें ढूंढना मुश्किल हो जाता है। इस बीच चार और संदिग्ध सामने आते हैं और किस्से फैलते हैं।
जांच के बाद इंस्पेक्टर वीरेंद्र को लगता है कि अपराधी उसके पास है। जैसे ही वह उसे पकड़ने के लिए क्लब पहुंचता है, एक और हत्या हो जाती है। साज़िश, मोड़ और मोड़, राजनीतिक प्रतिशोध, जबरन वसूली और अपराध से भरा उपन्यास हमें अंत तक हमारी सीटों के किनारे पर रखता है।

सुषमा कस्बेकर को उनकी सातवीं किताब और दूसरे उपन्यास पर एक वास्तविक कथानक पेचीदा पात्रों और आकर्षक लेखन के लिए सराहा जाना चाहिए। आकर्षक कवर वाली इस पुस्तक की कीमत 350 रुपये है और इसे लॉकस्ली हॉल द्वारा प्रकाशित किया गया है।

आप अपनी कॉपी

https://www.amazon.in/MURDER-AT-CLUB-SUSHAMA-KASBEKAR/dp/9392428235 पर प्रीऑर्डर कर सकते हैं


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button