छत्तीसगढ़

विवेकानन्द महाविद्यालय द्वारा वार्ड नंबर 15 में स्थित शासकीय प्राथमिक शाला में पौधारोपण शिविर का आयोजन

Ghoomata Darpan

विवेकानन्द महाविद्यालय द्वारा वार्ड नंबर 15 में स्थित शासकीय प्राथमिक शाला में पौधारोपण शिविर का आयोजन

मनेन्द्रगढ़। एमसीबी । आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत राष्ट्रीय कार्यक्रम ‘मेरी माटी मेरा देश’ के तहत छत्तीसगढ़ राज्य को ‘हरियर छत्तीसगढ‘़ बनाने के उददेश्य से नगरपालिका परिषद मनेन्द्रगढ़ के अध्यक्ष श्रीमती प्रभा पटेल के मुख्य आतिथ्य में शासकीय विवेकानन्द स्नातकोत्तर महाविद्यालय मनेन्द्रगढ़ के प्राचार्य डॉ. सरेाजबाला श्याग विश्नोई के संरक्षण एवं मार्गदर्शन में तथा राष्ट्रीय सेवा योजना महिला एवं पुरूष इकाई, रेडक्रॉस, रेडरीबन, गृहविज्ञान एवं आई.क्यू.ए.सी. के संयुक्त तत्वाधान में शासकीय प्राथमिक शाला वार्ड नंबर 15, शास्त्री वार्ड में पौधारोपण शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के प्रथम चरण में आयोजित व्याख्यान में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित श्रीमती प्रभा पटेल ने कहा कि प्रकृति में संतुलन बनाये रखने के लिए तथा अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ बनाये रखने के लिए पेड़-पौधे लगाना बहुत जरूरी है। पेड़-पौधों के माध्यम से प्रकृति का हम सभी प्रांणियों पर अनंत उपकार है। उन्होनें पौधारोपण के साथ उनकी रक्षा करने का संकल्प भी दिलाया।

विवेकानन्द महाविद्यालय द्वारा वार्ड नंबर 15 में स्थित शासकीय प्राथमिक शाला में पौधारोपण शिविर का आयोजन

प्राचार्य डॉ. विश्नोई ने बताया कि पौधारोपण विश्व के बढ़ते तापमान को नियंत्रित करने हेतु अत्यन्त आवश्यक है। आजकल हमलोग विकास की आड़ में वृक्षों को अंधाधुंध काटते जा रहे है जिससे हमारे जीवन के साथ ही पर्यावरण पर भी काफी विपरीत प्रभाव देखने को मिल रहा है। आज विश्व जनसंख्या दिवस को स्मरण करते हुए उन्होनें कहा कि बढ़ती आबादी के साथ प्राकृतिक संतुलन अनिवार्य है। बढ़ती आबादी की वजह से शहरीकरण बढ़ रहा है परिणामस्वरूप जंगल काटे जा रहे है जिससे जंगली जानवरों एवं अन्य पशु-पक्षियों के अस्तित्व पर संकट आ पड़ा है। डॉ. विश्नोई ने बताया कि पर्यावरण में जैव विविधता को बनाये रखने के लिए सतत पौधारोपण आवश्यक है। कार्यक्रम के द्वितीय चरण में मुख्य अतिथि श्रीमती पटेल, प्राचार्य डॉ. विश्नोई, महाविद्यालयीन स्टॉफ एवं छात्र-छात्राओं के द्वारा प्राथमिक शाला प्रांगण में छायादार, फलदार एवं औषधि महत्व के पौधे रोपे गये तथा उनके रक्षा हेतु शाला में पदस्थ शिक्षिका श्रीमती सुमा सरकार एवं श्रीमती शिवानी सोरेन को दायित्व सौंपा गया। इस दौरान महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकगण डॉ. श्रावणी चक्रवर्ती, डॉ. रश्मि तिवारी,  सुशील कुमार तिवारी, डॉ. अरूणिमा दत्ता,  भीमसेन भगत,  रंजीतमणी सतनामी, डॉ. नसीमा बेगम अंसारी, श्रीमती स्मृति अग्रवाल, श्रीमती अनुपा तिग्गा,  सुनील गुप्ता,  कमलेश पटेल,  शरणजीत कुजूर,  सुशील कुमार छात्रे एवं कार्यालयीन स्टॉफ  मनीष कुमार श्रीवास्तव,  पी.एल. पटेल,  बी.एल. शुक्ला,  रामखेलावन गुप्ता,  सुनीत जाँनसन बाड़ा, श्रीमती मीना त्रिपाठी, कु. साधना बुनकर,  एल.जी. रजक,  प्रदीप कुमार मलिक,  सतीश सोनी,  पारस तिग्गा एवं छात्र-छात्रायें उपस्थित रहें।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button