छत्तीसगढ़

श्रीमती रूबी बेनर्जी  के कुशल कार्यक्षमता व उत्कृष्ट योगदान हमारे लिए प्रेरणास्त्रोत हैं- पूनम चंद्र अग्रवाल

रामचरित द्विवेदी की कलम से

Ghoomata Darpan

श्रीमती रूबी बेनर्जी  के कुशल कार्यक्षमता व उत्कृष्ट योगदान हमारे लिए प्रेरणास्त्रोत हैं- पूनम चंद्र अग्रवालमनेन्द्रगढ़।एमसीबी। सरस्वती विकास विद्यालय से 38 वर्षों की सेवा देने के बाद सेवानिवृत्त हुई श्रीमती रूबी बेनर्जी मनेन्द्रगढ़.विद्यालय परिवार उनके कार्यों को सदैव याद रखेगा। उनकी कुशल कार्यक्षमता व उत्कृष्ट योगदान हमारे लिए प्रेरणास्त्रोत हैं। ये सेवानिवृत्त जरूर हुई हैं पर सेवा के दायित्वों से नहीं। इनके मार्गदर्शन की हमें हमेशा अपेक्षा रहेगी। उक्त बातें शहर के प्रतिष्ठित सरस्वती विकास विद्यालय प्रांगण में आयोजित सेवानिवृत्त शिक्षिका श्रीमती रूबी बेनर्जी के विदाई समारोह को संबोधित करते हुए विद्यालय समिति के अध्यक्ष पूनम चंद्र अग्रवाल ने कही कही।मनेन्द्रगढ़. सरस्वती विकास विद्यालय की वरिष्ठ शिक्षिका श्रीमति रूबी बैनर्जी को उनके सेवाकाल पूर्ण होने पर विद्यालय परिसर में भावभीनी विदाई दी गई. इस अवसर पर विद्यालय समिति के पदाधिकारियों व शिक्षक -शिक्षिका मौजूद रहे. श्रीमती बेनर्जी अपने शांत स्वभाव और एक कर्मठ व्यक्तित्व के रूप मे जानी जाती रहीं हैं.अपने 38 साल के कार्यकाल मे उन्होंने कभी किसी कार्य के लिए न शब्द का उपयोग नहीं किया.

श्रीमती रूबी बेनर्जी  के कुशल कार्यक्षमता व उत्कृष्ट योगदान हमारे लिए प्रेरणास्त्रोत हैं- पूनम चंद्र अग्रवालइस अवसर पर विद्यालय के अध्यक्ष पूनम चंद अग्रवाल एवम समिति के पदाधिकारी कमल केजरीवाल वेद प्रकाश पांडे उपस्थित थे। विद्यालय परिवार उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता है. इस मौके पर विद्यालय प्रबंध समिति के पूर्व अध्यक्ष कमल केजरीवाल ने अपने उद्बोधन में कहा किआज एक ऐसे शिक्षिका का रिटायरमेंट हुआ जिन्होंने अपनी सेवा के 38 वर्ष एक ही स्कूल में गुजार दिए। आज जब उनकी विदाई हुई तो हर आंख नम हो गई। लोगों ने उन्हें भावुक होकर विदाई दी। आपको शायद यह सुनकर आश्चर्य होगा लेकिन इस स्कूल में पदस्थ शिक्षिका श्रीमती रूबी बनर्जी ने शिक्षा जगत में एक ऐसी ही मिसाल कायम की जो हर किसी के लिए प्रेरणास्पद रहेगी।
संस्था प्राचार्य वेद प्रकाश पांडे ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यालय परिसर में उनकी कमी हमेशा महसूस होती रहेगी. अपने सेवा काल में उन्होंने जिस तरह से अपने शैक्षणिक दायित्वों का निर्वहन किया उसकी प्रशंसा करने के लिए मेरे पास शब्द कम पड़ रहे हैं. मैं उन्हें अपनी ओर से उनके दायित्व के कुशल निर्वहन के लिए और आगामी भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं. इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं ने उन्हें भावभीनी विदाई दी। सभी ने उन्हें पुष्पमाला पहनाकर उनके सेवाकाल की चर्चा की। इस अवसर पर विद्यालय परिवार की श्रीमती ममता अग्रवाल, हीरालाल केवट, पी एन तिवारी समेत विद्यालय के छात्र-छात्राएं मौजूद रहे. विदाई समारोह के अंत में और अपना पर मिला है उसे वे कभी नहीं भूल पाएंगी.उन्होंने आयोजन के लिए सभी शिक्षकों विद्यालय समिति के सभी पदाधिकारी, शिक्षकों,छात्र -छात्राओं के प्रति हृदय से आभार व्यक्त करते हुए सभी के उज्जवल भविष्य की कामना की.


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button