छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय आदिवासी एकता मंच छत्तीसगढ़ प्रदेश के अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात,मुख्यमंत्री साय से विभिन्न विषयों पर हुई चर्चा, प्रदेश के आश्रमों और हॉस्टलों को बेहतर बनाये जाने की रखी मांग

Ghoomata Darpan

मनेन्द्रगढ़। एमसीबी। राष्ट्रीय आदिवासी एकता मंच छत्तीसगढ़ प्रदेश के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ. विनय शंकर सिंह ने सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से मुलाकात कर प्रदेश के आर्थिक रूप से पिछड़े भाई बहनों, युवा वर्ग ,आदिवासी जनों के लोगों के लिए उन्नति ,विकास की चर्चा की। इस दौरान मुख्यमंत्री साय ने गंभीरता से प्रदेश अध्यक्ष की मांगों को सुना, अध्यक्ष बनने के बाद मुख्यमंत्री से हुई यह प्रथम मुलाकात मील का पत्थर साबित होगी।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय से हुई सौजन्य मुलाकात में डॉ.विनय शंकर ने छत्तीसगढ़ के आदिवासी बालक बालिका आश्रम हॉस्टलों की दुर्दशा पर चिंता जताते हुये मुख्यमंत्री से निवेदन करके सबसे पहले इन आश्रमों और हॉस्टलों पर रहकर पढ़ने वाले बच्चों की दयनीय स्थिति की तरफ़ मुख्यमन्त्री का ध्यान आकृष्ट कराते हुए इनके उन्नयन की माँग की है जिससे आदिवासी बच्चे इन आश्रमों और हॉस्टलों में पढ़ने के लिए मजबूरीवश ना आयें बल्कि ख़ुशी ख़ुशी आयें और उनको इन हॉस्टलों और आश्रम में घर जैसा महसूस हो।
छत्तीसगढ़ के इन 3300 हॉस्टलों और आश्रमों को स्मार्ट हॉस्टल में तब्दील करने के लिए मुख्यमंत्री से माँग की गई है जिसके तहत सबसे ज़रूरी मूलभूत सुविधा होनी चाहिए। जीर्ण शीर्ण हॉस्टलों का मरम्मत कर मॉडर्न हॉस्टल और आश्रम, सोने के लिये घर जैसा बेड, पढ़ने के लिए स्मार्ट फर्नीचर और आलमारी पॉवर बैकअप चौबीस घंटे पीने के लिए शुद्ध आरओ पानी, खाने के लिए उच्च स्तर की भोजन व्यवस्था। हॉस्टल में ही स्मार्ट डिजिटल लाइब्रेरी से यहां रहने वाले बच्चों का सर्वांगीण विकास होगा और उनकी पढ़ाई के प्रति रूचि बढ़ेगी।
इस सौजन्य मुलाकात में छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने राष्ट्रीय आदिवासी एकता मंच छत्तीसगढ़ प्रदेश के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष डॉ. विनय शंकर सिंह की मांगों को गंभीरता से सुना और उन्हें आश्वस्त किया है की जल्दी ही एक समिति बनाकर सर्वे कराया जायेगा और भविष्य में इन आश्रमों और हॉस्टलों में पढ़ने वाले बच्चों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो ये सुनिश्चित किया जायेगा।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button