छत्तीसगढ़

ग्रामीण विकास में युवा नशामुक्त, कुपोषणमुक्त समाज एवम पर्यावरण संरक्षण करने का संकल्प लेकर कार्य करे -राजकुमार खाती

Ghoomata Darpan

ग्रामीण विकास में युवा नशामुक्त, कुपोषणमुक्त समाज एवम पर्यावरण संरक्षण करने का संकल्प लेकर कार्य करे -राजकुमार खाती

मनेन्द्रगढ़।एमसीबी। शासकीय विवेकानंद स्नातकोत्तर महाविद्यालय मनेद्रगढ़ ,एम. सी. बी. की राष्ट्रीय सेवा योजना महिला इकाई का सात दिवसीय विशेष शिविर, मांगलिक भवन वेस्ट जे के डी शिविर के अंतर्गत कार्यक्रम अधिकारी सह प्राचार्य डॉ. सरोज बाला शायग विश्नोई के संयोजन एवं सह प्रभारी अनुपा तिग्गा शिविर नायिका स्वस्तिका जायसवाल सह शिविर नायिका आसमां बेगम सहित रासेयो छात्राओं द्वारा ग्राम संपर्क करते हुए एवम बौद्धिक परिचर्चा में कहा कि ह्रदय की पवित्रता और विचारों की शुद्धता के लिए नशा मुक्त समाज का होना आवश्यक है। नशा नाश का जड़ है।नशा सर्व प्रथम इंसान को शैतान बनाता है फिर शरीर चरित्र धर्म को नष्ट करता है।भावी पीढ़ी के उज्वल भविष्य के लिए नशामुक्त समाज बनाना आवश्यक है एवम अनमोल जीवन को शराब पीने में बर्बाद करने से बचाने की आवश्कता है।सुपोषण के तहत लोगों को पोषण के बारे में जानकारी दी एवम पौष्टिक आहार का महत्व बताया गया।साथ ही इस बात पर भी प्रकाश डालते हुए कहा गया की पर्यावरण संरक्षण से वायु जल और भूमि प्रदूषण कम होता है। जैव विविधता की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पर्यावरण का बहुत महत्व है।सभी के सतत विकास के लिए पर्यावरण संरक्षण महत्वपूर्ण है ।हमारे ग्रह को ग्लोबल वार्मिग जैसे हानिकारक प्रभावों से बचाने के लिए भी पर्यावरण संरक्षण महत्वपूर्ण है।ग्राम संपर्क के तहत ही महिलाओं को रोजगार के अवसर कैसे प्राप्त किया जा सकता है इस संबंध में अवगत कराया गया ।रासेयो छात्राओं ने ग्रामवासियों के साथ मिलकर नशा मुक्त कुपोषणमुक्त समाज एवम पर्यावरण संरक्षण करने का संकल्प लिया।
कार्यक्रम के बौद्धिक सत्र में कार्यक्रम अधिकारी डॉ.विश्नोई ने सोलर एनर्जी पर व्याख्यान दिया ।कहा कि सौर ऊर्जा भविष्य की ऊर्जा है तथा इसका इस्तेमाल करके आप पर्यावरण को
होने वाले नुकसान से रोक सकते हैं ।बिजली के भारी बिल से छुटकारा भी पा सकते हैं।सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न परियोजनाओं का भी भरपूर लाभ उठा सकते हैं ।
क्रमशः महिला एवम बाल विकास जिला अधिकारी राजकुमार खाती द्वारा ग्रामीण विकास में युवा की भूमिका पर अपने विचार रखते हुए सुपोषण ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ किशोरी योजना एवम स्व सहायता समूह के बारे में शिविरार्थी ग्रामवासियों के साथ जानकारी साझा की। छात्राओं ने एवम ग्रामवासियों ने खाती के उद्बोधन के उपरांत उनसे कई प्रश्न किए जिनका उन्होंने समाधान प्रस्तुत किया । नशा उन्मूलन के लिए भी गृह लक्ष्मी के योगदान ,भूमिका को चिन्हांकित रेखांकित करते हुए सारगर्भित उद्बोधन दिया ।
ग्रामवासियों के समक्ष रासेयो छात्राओं ने नशाखोरी सूदखोरी बालविवाह पर्दाप्रथा अंधविश्वास दूर करने संबंधी रोचक एवम उत्कृष्ठ नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया। जेकेडी खदान में भी श्रमिक भाइयों को राष्ट्रीय सेवा योजना महिला इकाई द्वारा नशा उन्मूलन के प्रति जागरूक किया इस अवसर पर डॉ बिश्नोई ने अपने उद्बोधन के माध्यम से नशे से होने वाली हानियो के बारे में जानकारी देते हुए संकल्प दिलाया कि नशा मुक्त भारत बनाने में योगदान देंगें। सब एरिया मैनेजर मिथिलेश मेहतो, कॉलरी मैनेजर विनोद बी एक्का, डी के जायसवाल, आर पी कुर्रे, पी के त्रिपाठी, सुभाष झा, सरबजीत सिंह, एन के सिंह सहित सभी अधिकारी का योगदान कार्यक्रम को सफल बनाने में मिला। समाचार लिखे जाने तक राष्ट्रीय सेवा योजना महिला इकाई का सतत जागरूकता अभियान रैली के माध्यम से आम जनता तक एवं स्कूलों के माध्यम से विद्यार्थी तक जारी है।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button