छत्तीसगढ़

सेवानिवृत्त चपरासी हीरालाल ने रेडक्रॉस सोसायटी को दिया 6 लाख रूपये का दान

जिले के सबसे प्रेरणादायी व्यक्ति हैं हीरालाल...कलेक्टर

Ghoomata Darpan

सेवानिवृत्त चपरासी हीरालाल ने रेडक्रॉस सोसायटी को दिया 6 लाख रूपये का दान

मनेन्द्रगढ़।एमसीबी।  हीरालाल ने जिले एक प्ररेणादायी व्यक्ति के रूप में रेडक्रॉस सोसायटी को 5 लाख 75 हजार तथा 25 हजार रूपये देकर रेडक्रॉस सोसायटी के स्थायी सदस्य बने गये। इस प्रकार हीरालाल ने आज कलेक्टर  नरेन्द्र कुमार दुग्गा के माध्यम से रेडक्रॉस सोसायटी को कुल 6 लाख रूपये दान किया। हीरालाल बताते है कि मेरी पत्नी श्रीमती सुखवरी जिसका मृत्यु वर्ष 2003 में हो गयी है। हमारे दांपत्य से 3 पुत्र संतान हुए, जिसमें पहला सोहन लाल जीवित है जिसका उम्र लगभग 35 वर्ष है, दूसरा जवाहरलाल, जिसकी उम्र 25 वर्ष की उम्र में मृत्यु हो गई है, तथा तीसरा मोती लाल जिसकी उम्र 14 वर्ष में ही मृत्यु हो गई है। मेरा जीवित पुत्र सोहन लाल मेरे से कोई संबंध नहीं रखता है, और न ही मेरा ध्यान रखता है। उन्होंने बताया कि मेरी उम्र 75 वर्ष हो गई है और मैं वृद्ध हो चुका हूँ। अकेला जीवनयापन कर रहा हूँ। मेरे द्वारा स्वअर्जित धनराशि जो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा मनेन्द्रगढ़ जिला एमसीबी छ.ग. में जमा है जमा धनराशि में से भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी, जिला शाखा एसीबी छ.ग. में राशि 25,000/- (पच्चीस हजार रू.) जमाकर स्थायी सदस्यता ग्रहण करना चाहता हूँ तथा मेरे खाते में जमा राशि में से 5,75,000/- (पांच लाख पचहत्तर हजार रू.) भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी, मनेन्द्रगढ़ जिला एमसीबी छ.ग. को मानव स्वास्थ्य उपचार हेतु स्वेच्छा से देना चाहता हूँ।
कलेक्टर ने बताया कि महामारी, भूकंप, अकाल, बाढ़ और अन्य आपदाओं के कारण होने वाली पीड़ितों के शमन के लिए राहत की व्यवस्था, अस्पतालों और स्वास्थ्य संस्थानों के लिए के लिए उपयोग किया जाता है।

रामानुज अग्रवाल के सहयोग और मार्गदर्शन में हीरालाल ने बहुत बड़ी राशि रेडक्रास सोसायटी को स्वेच्छा से दान किया है। नया जिला गठन के बाद रेडक्रास सोसायटी बनाया गया है। जिसमें जिले कोई भी नागरिक अपनी यथाशक्ति दान कर सकता है। रेडक्रास सोसायटी में जमा राशि का उपयोग असहाय, जरूरतमंद व्यक्ति, गरीब छात्रों के लिए उपयोग किया जाता है। उन्होंने जिलेवासियों से अपील की लोग हीरालाल के समान ही आगे आकर यथाशक्ति रेडक्रास सोसायटी में दान करें। जिससे जिले वासियों के जरूरतमंद लोगों की मदद की जा सके। उन्होंने इस नेक कार्य के लिए हीरालाल तथा रामानुज अग्रवाल का आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button