छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय संगोष्ठी के साथ विज्ञान पखवाड़े का महाविद्यालय में समापन

Ghoomata Darpan

मनेन्द्रगढ़। एमसीबी।शासकीय विवकानन्द स्नातकोत्तर महाविद्यालय मनेन्द्रगढ़ में राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी संचार परिषद के समर्थन से प्राचार्य डॉ. सरोजबाला श्याग विश्नोई के संरक्षण एवं मार्गदर्शन में श्रीमती प्रभा राज विभागाध्यक्ष रसायनशास्त्र के संयोजन में विज्ञान दिवस से विज्ञान पखवाड़े का शुभारंभ किया गया जिसका समापन राष्ट्रीय संगोष्ठी ऑनलाईन गूगल मीट एवं ऑफलाईन, डूवेल मोड पर किया गया। राष्ट्रीय संगोष्ठी विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक विषय पर आयोजित हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रथम दिवस डॉ. श्रावणी चक्रवर्ती द्वारा की गई एवं द्वितीय दिवस प्राचार्य डॉ. विश्नोई द्वारा की गई। मुख्य वक्ता के रूप में डॉ. जूजेर अली रंगवाला सहायक प्राध्यापक रसायनशास्त्र शासकीय महाविद्यालय कन्नौज देवास मध्यप्रदेश ने प्रथम दिवस व्याख्यान दिया। द्वितीय दिवस डॉ. श्वेता लिखितकर सहायक प्राध्यापक संत अलायसियस महाविद्यालय जबलपुर मध्यप्रदेश का व्याख्यान रहा। संगोष्ठी की अध्यक्षता डॉ. विश्नोई द्वारा की गई। इस अवसर पर विज्ञान पखवाड़े के अंतर्गत विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक विषय पर जिला स्तरीय कार्यक्रम कर महाविद्यालय में विज्ञान वार्ता, पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुतिकरण कर, पोस्टर प्रतियोगिता के अंतर्गत पोस्टर एवं मॉडल प्रस्तुतिकरण का आयेाजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं ने कृषि क्षेत्र में तकनीकी प्रौद्यौगिकी, बायोडीजल, बायोइथेनॉल, स्वदेशी तकनीक आदि विषयों पर रोचक एवं नवीन प्रस्तुतियां दी। साथ ही विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी के विभिन्न अविष्कारों एवं विज्ञान के इतिहास और आधुनिक विज्ञान की नवीनतम प्रगतियों पर विचार किया गया। कार्यक्रम में जल संसाधन के संरक्षण एवं जल संसाधन के प्रबंधन, स्पेश टेक्नोलॉजी, पिरयोडिक टेबल आदि विषयों पर छात्र-छात्राओं द्वारा आकर्षक एवं ज्ञानवर्धक प्रस्तुतिकरण दी गई जिसमें बी.एससी. एवं एम.एससी. के छात्र-छात्राओं ने उत्सापूर्वक भाग लिया एवं कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आयोजन समिति में भीमसेन भगत, रंजीतमणी सतनामी, सुनील गुप्ता, रेनु प्रजापति, रेखा सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। डॉ. रश्मि तिवारी , नीलम द्विवेदी, शिवकुमार, शिवानन्द साकेत कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। कार्यक्रम के अंत में भीमसेन भगत ने धन्यवाद ज्ञापित किया।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button