छत्तीसगढ़

समाज सेवा ही सर्वश्रेष्ठ सेवा…श्याम बिहारी जायसवाल स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य मंत्री ने नेत्रहीन शिक्षण-प्रशिक्षण धर्मार्थ समिति आमाखेरवा के कार्यक्रम में हुये शामिल

Ghoomata Darpan

समाज सेवा ही सर्वश्रेष्ठ सेवा...श्याम बिहारी जायसवाल स्वास्थ्य मंत्री समाज सेवा ही सर्वश्रेष्ठ सेवा...श्याम बिहारी जायसवाल स्वास्थ्य मंत्री

मनेन्द्रगढ़।एमसीबी।  26 जनवरी 2024 को 75 वें गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर नेत्रहीन विद्यालय मनेंद्रगढ़ में ध्वजारोहण किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री छत्तीसगढ़ शासन  श्याम बिहारी जयसवाल का आगमन हुआ। जिनके साथ एमसीबी कलेक्टर डी. राहुल वेंकट, जिला पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी, भाजपा जिला अध्यक्ष अनिल केसरवानी, के साथ सभी जिलाधिकारी, अन्य अधिकारी गण एवं नगर के गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति रहे। इस अवसर पर संस्था के छात्रों द्वारा अपने मधुर गीत संगीत के माध्यम से अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। मंत्री श्री जायसवाल ने छात्रों के मध्य बैठकर स्वयं झाल-मजीरा बजाते हुए भजनों का आनंद लिया। मंत्री श्री जायसवाल ने बच्चों को वाद्य यंत्रों हेतु 50000 की राशि प्रदान करने की घोषणा की एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी को प्रत्येक माह संस्था में जाकर बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने को कहा। उन्होंने कहा हम सभी विद्यालय हित में सदैव आगे बढ़कर सहयोग करेंगे। उन्होंने संस्था की उत्तरोत्तर प्रगति की कामना की। उन्होंने छात्रों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि समाज सेवा का यह सबसे उत्तम क्षेत्र है हम आज गौरवान्वित भी हो रहे हैं कि हमारे जिले में छत्तीसगढ़ राज्य की अग्रणी संस्था है जो अपने पूरे संकल्प के साथ दृष्टिहीन बच्चों को शिक्षा प्रदान कर रही है, हम संस्था की शासन स्तर पर सभी प्रकार की कठिनाइयों को दूर करते हुए हर संभव सहायता करेंगे। संस्था के सदस्य चंद्रकांत चावड़ा ने संस्था का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि संस्था 27 वर्षों से निरंतर सामाजिक सेवा के क्षेत्र में कार्यरत है। लुई ब्रेल का जन्म 4 जनवरी, 1809 को फ्रांस के कुप्रे में हुआ था. बचपन में हुए एक हादसे की वजह से उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी. लुई ब्रेल को स्पर्श द्वारा लेखन प्रणाली का आविष्कारक माना जाता है। उन्होंने संस्था में सांस्कृतिक भवन बनाये जाने व ब्रेल लिपि के जनक सर लुई ब्रेल की प्रतिमा स्थापित करने हेतु मांग पत्र दिया व कार्यक्रम का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक राकेश गुप्ता द्वारा किया गया।


Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button