Uncategorized

रीपा की शुरुआत से प्रदेश के महिलाओं तथा युवाओं को मिलेगा रोजगार, पंरपरागत उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा-मुख्यमंत्री’

जिले में कुल 06 गौठानो में स्व सहायता समूह की 206 महिलाएं जुड़ी आजीविकामूलक गतिविधियों से’

Ghoomata Darpan

 .रीपा की शुरुआत से प्रदेश के महिलाओं तथा युवाओं को मिलेगा रोजगार, पंरपरागत उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा-मुख्यमंत्री’


मनेन्द्रगढ़-चिरमिर-भरतपुर 25 मार्च 2023/
मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री द्वारा राज्य के कुल 278 मल्टीएक्टिविटी सेंटर का लोकार्पण किया गया। मुख्यमंत्री ने रीपा के ब्रोसर का विमोचन कर रीपा का शुभारंभ किया।इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा राजीव गांधी नगरीय भूमिहीन कृषि मजदूर नया योजना का शुभारंभ तथा विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को राशि अंतरित किया गया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 के एप्लीकेशन को लांच किया। इसके साथ ही बेरोजगारी भत्ता वेब पोर्टल लॉन्च किया है।
जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के ग्राम पिपरिया स्थित रीपा स्थल में किया गया है। कार्यक्रम का शुभारंभ उपाध्यक्ष सरगुजा विकास प्राधिकरण एवं विधायक भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र  गुलाब कमरो ने महात्मा गांधी तथा छत्तीसगढ़ महतारी की छायाचित्र पर माल्यापर्ण कर तथा राज्यगीत के साथ हुआ। श्री कमरो ने फीता काटकर रीपा गतिविधियों का शुभारंभ किया तथा समूह की महिलाओं को प्रोत्साहित करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं। जिलास्तरीय कार्यक्रम में कलेक्टर  पी.एस.ध्रुव एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि, जिला स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी, स्वसहायता समूह की महिलाएं तथा ग्रामीणजन उपस्थित रहे।

रीपा की शुरुआत से प्रदेश के महिलाओं तथा युवाओं को मिलेगा रोजगार, पंरपरागत उद्योगों को मिलेगा बढ़ावा-मुख्यमंत्री’)
’उत्कृष्ट कार्य के लिए समूह की महिलाएं हुई सम्मानित-’
इस दौरान समूह की महिलाओं को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया तथा खेल प्रतियोगिताओं में विजेता महिलाओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में समूह की महिलाओं द्वारा रीपा अंतर्गत निर्मित उत्पादों के स्टॉल भी लगाया गए। इसके साथ ही सोनहा बिहान आजीविका महिला संगठन द्वारा अधिवेशन सह आम सभा का आयोजन किया गया।
’जिले में कुल 06 गौठानो में स्व सहायता समूह की 206  महिलाएं जुड़ी आजीविकामूलक गतिविधियों से-’
उल्लेखनीय है कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के चयनित गौठानों को आजीविका के केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए वहां महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क बनाए गए है। इन पार्कों को ग्रामीण उत्पादन एवं सेवा केन्द्र के रूप में विकसित किया गया है। जिले में कुल 06 रीपा चयनित हैं जिसमें स्व सहायता समूह की कुल 206 महिलाओं को आजीविकामूलक गतिविधियों से जोड़ा गया है।चयनित रीपा  विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के पिपरिया तथा परसगढ़ी, विकासखण्ड भरतपुर के बहरासी तथा जनकपुर, विकासखण्ड खड़गवां के चिरमी तथा दुबछोला हैं। विकासखण्ड मनेंद्रगढ़ के परसगढ़ी गौठान में रीपा अंतर्गत झाड़ू मेकिंग, बयोडिगडेबल बैग्स मेकिंग, पेपर कप और पेपर नैपकिन मेकिंग, स्लीपर चप्पल मेकिंग, स्टेशनरी प्रोडक्ट मेकिंग एवं प्रिंटिंग, वालेट पर्स एवं बैग मेकिंग यूनिट का संचालन स्व सहायता समूह की 38 महिलाएं कर रहीं हैं। पिपरिया गौठान में समूह की 37 महिलाएं फ्लाई एश ब्रिक, पेवर ब्लॉक, पोल मेकिंग यूनिट, फेब्रिकेशन प्रोफ़ाइल शीट उत्पादन मेकिंग यूनिट, गोबर उत्पादन मेकिंग यूनिट, बेकरी एवं मिलेट उत्पादन मेकिंग यूनिट का संचालन कर रहीं हैं।
इसी प्रकार विकासखण्ड भरतपुर के बहरासी गौठान में समूह की 27 महिलाओं द्वारा रीपा अंतर्गत जीराफुल चावल प्रसंस्करण एवं पैकिंग यूनिट के साथ वनोपज प्रसंस्करण, बोरी बैग मेकिंग एवं प्रिंटिंग, झाड़ू मेकिंग, टॉयलेटरीज प्रोडक्ट मेकिंग, स्लीपर चप्पल मेकिंग यूनिट तथा जनकपुर गौठान में 33 महिलाओं द्वारा पिकल्स मेकिंग एंड पैकेजिंग यूनिट, बेकरी एवं ब्रेड मेकिंग यूनिट, सनेटरी पैड एवं डायपर मेकिंग यूनिट, रेडीमेड फैशन डिजाइन स्विंग सेंटर, स्लीपर चप्पल मेकिंग यूनिट का संचालन कर रहीं हैं।वही विकासखण्ड खड़गवां के  दुबछोला गौठान में रीपा अंतर्गत समूह की 41 महिलाओं द्वारा कुल पांच गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है जिसमे फेब्रीकेशन/प्रोफाइल शीट मेकिंग, बोरी बैग मेकिंग एवं प्रिंटिंग, फ्लाई एश ब्रिक, पेपर ब्लाक, पोल मेकिंग, पूजन सामग्री मेकिंग एवं अगरबत्ती मेकिंग, फ्लेक्स एवं ओफसेट बैनर प्रिंटिंग यूनिट तथा चिरमी गौठान में 30 महिलाओं द्वारा वनोपज एवं मिलेट प्रसंस्करण, सीमेंट गमला पोल मेकिंग, कोदो चावल प्रसंस्करण एवं पैकिंग, आरओ एवं मिनरल वोटर प्लांट संचालित है।

Ghoomata Darpan

Ghoomata Darpan

घूमता दर्पण, कोयलांचल में 1993 से विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध अखबार है, सोशल मीडिया के जमाने मे आपको तेज, सटीक व निष्पक्ष न्यूज पहुचाने के लिए इस वेबसाईट का प्रारंभ किया गया है । संस्थापक प्रधान संपादक प्रवीण निशी का पत्रकारिता मे तीन दशक का अनुभव है। छत्तीसगढ़ की ग्राउन्ड रिपोर्टिंग तथा देश-दुनिया की तमाम खबरों के विश्लेषण के लिए आज ही देखे घूमता दर्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button